Tuesday, April 23, 2024
होमराजनीतिपश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी ने सभी 42 सीटों पर उतारे टीएमसी...

पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी ने सभी 42 सीटों पर उतारे टीएमसी प्रत्याशी, कांग्रेस से गठबंधन न होने की बडी़ वजह जाने, कांग्रेस से ज्यादा मुफीद भाजपा,कांग्रेस का बंगाल में मजबूत होना ममता के लिए खतरे की घंटी, क्या है अंदरूनी कहानी जाने ?

अंततः ममता बनर्जी ने पश्चिम बंगाल में दो से अधिक सीटें न देने की अपनी जिद पर कायम रहते हुए सभी 42 लोकसभा सीटों पर अपने प्रत्याशियों के नामों की घोषणा करके एकतरह से भाजपा की मुराद भी इंडिया गठबंधन से (खासकर कांग्रेस से) दूरी बनाकर पूरी कर दी और फौरी तौर पर भाजपा के कोप से अपने को मुक्त कर लिया। लेकिन यही नहीं चुनाव बाद एकतरह से एनडी ए गठबंधन का हिस्सा भी बनने का इशारा भी कर दिया है।अब कुछ टीएमसी के बडे़ नामों की तरफ भी नजर दौडा़ लें कि किसे कहां से टिकट मिला है सबसे चौंकाने वालानाम क्रिकेटर युसुफ पठान का है जिन्हे पार्टी ने बहराम पुर से जहां से कांग्रेस के अधीर रंजन चौधरी जीतते रहे हैं, टिकट दिया है।डायमंड हिल्स से ममता के भतीजे अभिषेक बनर्जी, महुआ मित्रा को कृष्णा नगर , आसनसोल से शत्रूघ्न सिंहा को टिकट मिला है। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अधीर रंजन चौधरी पहले से ही ममता बनर्जी से गठबंधन के खिलाफ थे लेकिन पश्चिम बंगाल जाकर सड़क पर इन्होने कांग्रेस गठबंधन को मजबूत करने का कोई काम नहीं किया था जिसका नतीजा यह हुआ कि वहां कांग्रेस की निष्क्रियता उठाकर भाजपा मुख्य विपक्षी दल बन गयाहै इस गठबंधन को न होने देने के लिए भाजपा भी सक्रिय थी अब गठबंधन।टूटने का सबसे अधिक लाभ भाजपा को मिलेगा यह तयं है । अब कांग्रेस कम से कम ऐसे 10 सीटों पर जिताऊ और मजबूत चौंकाने वाले उम्मीदवारों को उतारने की कोशिश करेगी साथ ही गोरखा लैंड समर्थक , झारखंड और बिहार के एक दो मजबूत नेता तथा टीएमसी ऐसे मजबूत नेताओं को मिलाकर ममताबनर्जी से नाराज हैं, उन्हे टिकट बहुत ही समझदारी से दो दिन के अंदर ही बांटना होगा ताकि उनको क्षेत्र में प्रचार करने मौका भी मिल सके। सम्पादकीय-News51.in

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments