Monday, April 22, 2024
होमआर्थिकदेश का सही और निष्पक्ष समाचार जानने के लिए NDTV चैनल देखने...

देश का सही और निष्पक्ष समाचार जानने के लिए NDTV चैनल देखने वाले निराश, अब देश की सही तस्वीर कौन दिखाएगा आखिर? अडानी का NDTV पर अधिपत्य

इस देश की सच्ची तस्वीर और निष्पक्ष समाचार जानने वाले सुबह और शाम को एक ही चैनल देखना पसंद करते थे अब तो इस चैनल का 29.18 प्रतिशत शेयर ही अडानी की कम्पनी ने नहीं ले लिया है बल्कि उनकी सहायक कम्पनी Vcpl के पास NDTV की प्रमोटर कम्पनी के 99.99 प्रतिशत शेयर्स को हकदारी में बदलने का वारंट भी है सत्ता विरोध को प्रणव ने (NDTV के मालिक) ने बढियां से भुनाया। अब देश की सच्ची तस्वीर देखने के आदी किस चैनल को देखेंगे ।ऐसे लोग निश्चित रूप से निराश होंगे। अब तो हर चैनल पर बहस हिंदू मुस्लिम, मंदिर मस्जिद पर बहस आदि ही देखने को मिलेंगे जैसा अभी तक होता आया है। खैर कोई क्या करे, जरा हिंदी की प्रेस रिलीज पर भी एक निगाह दौड़ा लिजिए-

एएमजी मीडिया नेटवर्क्स लिमिटेड (एएमएनएल) ने अप्रत्यक्ष रूप से एनडीटीवी में 29.18% हिस्सेदारी हासिल की और लांच किया ओपन ऑफर

एएमजी मीडिया नेटवर्क्स लिमिटेड (एएमएनएल) की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी, विश्वप्रधान कमर्शियल प्राइवेट लिमिटेड (वीसीपीएल), ने एनडीटीवी की प्रमोटर ग्रुप कंपनी, आरआरपीआर होल्डिंग प्राइवेट लिमिटेड के 99.5% इक्विटी शेयरों के अधिग्रहण के अधिकारों का प्रयोग किया

यह सेबी के अधिग्रहण विनियमों के मुताबिक एनडीटीवी में 26% तक हिस्सेदारी हासिल करने के लिए एक खुली पेशकश करेगा

एनडीटीवी के पास तीन प्रमुख नेशनल चैनल और एक मजबूत डिजिटल प्लेटफॉर्म है

एएमएनएल अदाणी एंटरप्राइजेज लिमिटेड (एईएल) की 100% सहायक कंपनी है

अहमदाबाद; 23 अगस्त, 2022: एएमएनएल की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी, वीसीपीएल के पास, आरआरपीआर होल्डिंग प्राइवेट लिमिटेड (आरआरपीआर) का वारंट उपलब्ध है, जो उन्हें आरआरपीआर में 99.99% हिस्सेदारी बदलने का अधिकार देती है। वीसीपीएल ने आरआरपीआर में 99.5% हिस्सेदारी हासिल करने के लिए वारंट का प्रयोग किया है। इस अधिग्रहण के परिणामस्वरूप, वीसीपीएल आरआरपीआर का नियंत्रण हासिल कर लेगा।

आरआरपीआर एनडीटीवी (एनडीटीवी, बीएसई: 532529) की एक प्रमोटर ग्रुप कंपनी है और एनडीटीवी में 29.18% हिस्सेदारी रखती है। वीसीपीएल, एएमएनएल और एईएल (कॉन्सर्ट एक्टिंग पर्सन्स) के साथ, सेबी (शेयरों और टेकओवर का पर्याप्त अधिग्रहण) के विनियम, 2011 की आवश्यकताओं के अनुपालन के अनुरूप, एनडीटीवी में 26% हिस्सेदारी हासिल करने के लिए एक खुली पेशकश शुरू करेगा।

एनडीटीवी एक प्रमुख मीडिया हाउस है जिसने तीन दशकों से अधिक समय से विश्वसनीय समाचारों के वितरण का बीड़ा उठाया है। कंपनी तीन नेशनल न्यूज़ चैनल्स एनडीटीवी 24×7, एनडीटीवी इंडिया और एनडीटीवी प्रॉफिट संचालित करती है। इसकी एक मजबूत ऑनलाइन उपस्थिति भी है और विभिन्न प्लेटफार्मों पर 35 मिलियन से अधिक फॉलोवर्स के साथ सोशल मीडिया पर सबसे अधिक फॉलो किए जाने वाले न्यूज़ हैंडल्स में से एक है।

एनडीटीवी ने 123 करोड़ रुपये के ईबीआईटीडीए के साथ 421 करोड़ रुपये का रेवेन्यू और वित्त वर्ष 22 में नेग्लिजिबल डेब्ट के साथ 85 करोड़ रुपये का नेट प्रॉफिट दर्ज किया है।
एएमजी मीडिया नेटवर्क्स लिमिटेड के सीईओ श्री संजय पुगालिया ने कहा, “यह अधिग्रहण एएमएनएल के सभी प्लेटफॉर्म्स पर न्यू ऐज मीडिया का मार्ग प्रशस्त करने के लक्ष्य में जारी सफर के लिए एक महत्वपूर्ण माइलस्टोन साबित होगा। एएमएनएल भारतीय नागरिकों, उपभोक्ताओं और भारत में रुचि रखने वालों को, सूचना व ज्ञान के साथ सशक्त बनाना चाहता है। समाचारों में अपनी लीडिंग पोजीशन और शैलियों एवं भौगोलिक क्षेत्रों में अपनी मजबूत व विविध पहुंच के साथ, एनडीटीवी हमारे दृष्टिकोण को पूरा करने के लिए सबसे उपयुक्त प्रसारण और डिजिटल प्लेटफॉर्म है। हम समाचार वितरण में एनडीटीवी के नेतृत्व को मजबूत करने के लिए तत्पर हैं।”

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments