Monday, May 27, 2024
होमइतिहासहिटलर की प्रेमिका से पत्नी तक का सफ़र ईवा ब्राउन का, जिसने...

हिटलर की प्रेमिका से पत्नी तक का सफ़र ईवा ब्राउन का, जिसने मरते दम तक निभाया साथ

म्यूनिख (जर्मनी) – दुनियां हिटलर के मात्र एक ही रूप से परिचित है दुनियां उसे बेहद क्रूर, और दुनियां को फतेह करने वाले सनकी के रूप से ही परिचित है लेकिन इन सबके बीच उसकी प्रेमकहानी लोगों के सामने आने से रह गई। वैसे तो उसकी जिंदगी में तमाम महिलाऐं आई लेकिन वह सभी उसके ग्लैमर और उसकी सत्ता की ताकत के कारण जुड़ीं और उससे नजदीकी का लाभ उठाया, लेकिन ईवा ब्राउन उसकी जिंदगी में आई और छा गई। हालत यह हो गयी कि हिटलर उसके बिना एक पल भी नहीं रह पाता था उसे साथ लेकर युद्ध के मोर्चों पर भी चला जाता था। ईवा के हिटलर के जिंदगी में आने के बाद हिटलर ने अपनी सभी प्रेमिकाओं को छोड़ दिया था ईवा ने भी अपने प्रेमी हिटलर को दिल जान बेपनाह से प्यार किया और जिंदगी भर उसके प्रति लायल रही और तो और मरने के एक दिन पहले उसने हिटलर से शादी कर एक दिन के लिए उसकी धर्म पत्नी भी बनी। हिटलर ने जब अपनी पिस्तौल से आत्महत्या की तो उसी के साथ ही ईवा ने सायनाइड खाकर मात्र 33 साल की उम्र में अपनी जान दे दी। ईवा ब्राउन का जन्म 6 फरवरी 1912 को म्यूनिख में हुआ था ।एक स्कूल टीचर की बेटी ईवा को बचपन से ही फोटो ग्राफी का शौक था मात्र 17 साल की उम्र में ही वह हेनरिच हाफमैन जो नाजी पार्टी के आफिसियल फोटोग्राफर थेउनकी असिस्टैंट बन गई। इसी सिलसिले में एक दिन ऐडोल्फ हिटलर से स्टूडियो में ईवा की मुलाकात हुई। और दोनों के बीच मुलाकात का सिलसिला चला और दोनों एक दूसरे से बेहद प्यार करने लगे। फिर ईवा ने हाफमैन के यहाँ काम करना छोड़ दिया। ऐडोल्फ हिटलर के जितने भी फोटो हैं उनमें अधिकांश ईवा ब्राउन द्वारा ही खिंचे हुए हैं। 23 साल की ईवा ब्राउन ने ऐसे खूंखार, जालिम, क्रूर और द्वितीय विश्वयुद्ध के अपराधी से जिसने हजारों यहूदियों और अपने विरोधियों की हत्या गैस चैम्बर में बंद कर, कर दिया था, से बेपनाह प्यार करती थी अप्रैल 1945 आते-आते हिटलर को बर्लिन में रूसी सेनाओं ने जब घेरना शुरू किया तब हिटलर ने ईवा ब्राउन से बर्लिन से सुरक्षित चले जाने को कहा था लेकिन ईवा ब्राउन हिटलर को छोड़ कर जाने को तैयार नहीं हुई और उसके साथ ही जीने मरने की बात करने लगी। तब सेना प्रमुख से हिटलर ने ईवा ब्राउन से शादी की इच्छा जताई और वाल्टर को बुलाने को कहा। वाल्टर गोलियों की बौछार के बीच बख्तरबंद गाड़ी में बिना मैरिज सार्टीफिकेट के आ गया। उसे दुबारा मैरिज सार्टीफिकेट लाने के लिए भेजा गया वह घर रूसी सैनिकों की गोलाबारी से बचते हुए बख्तरबंद गाड़ी से मैरिज सार्टीफिकेट दुबारा लेकर आया ।और कुछ चुनिन्दा सैन्य अधिकारियों की उपस्थिति में दोनों की30 अप्रैल को शादी हो गई। शादी के समय दोनों के बीच लगभग 20 वर्ष की उम्र का अंतर था ईवा ब्राउन 33 और हिटलर 52-53 वर्ष का था ।शादी में ईवा ने हिटलर की पसंदीदा काली ड्रेस पहन रखी थी ईवा ब्राउन किस कदर हिटलर को चाहती थी इसकी झलक मैरिज सार्टीफिकेट में ईवा के हस्ताक्षर में झलकता है जिसमें पहले ईवा ने ईवा लिखकर बी लिखा और फिर बी काटकर हिटलर लिखा फिर अंत में ब्राउन लिखा। शादी के बाद दोनों चांसलर के 50 फिट नीचे बने बंकर में चले गए ।हिटलर को अंदेशा हो गया था कि देर-सबेर रूसी सेना उसे बंकर में घेर कर गिरफ्तार कर सकती है या उसकी हत्या कर सकती है रात्रि गोली चलने की आवाज़ सुनकर सेना के जवान बंकर में गये तो देखा हिटलर ने गोली मारकर आत्महत्या कर ली थी और ईवा हिटलर ब्राउन दीवार के सहारे लेटी पड़ी थी उसने सायनाइड खाकर अपनी जान दे दी थी। इस तरह एक ऐतिहसिक प्रेम कहानी का बेहद दुखद अंत हो गया। लेकिन हिटलर के साथ “ईवा हिटलर ब्राउन ” भी अमर हो गई। सम्पादक-News 51.in

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments