Friday, June 14, 2024
होमअपराधयूपी के टाप टेन अपराधी, जिनकी निगरानी के लिये यूपी सरकार ने...

यूपी के टाप टेन अपराधी, जिनकी निगरानी के लिये यूपी सरकार ने सभी जेल अधिकारियों के लिए नये दिशा निर्देश जारी किए

Llllll यूपी सरकार ने यूपी की विभिन्न जेलों में बंद 10 बडे़कुख्यात अपराधियों की नयी लिस्ट जारी की गयी है जिनकी जेलों में निगरानी बढाने और उनकी चौबीसों घंटे सुरक्षा के लिए नये दिशा निर्देश जेल अधिकारियों को जारी किए हैं आइये इन टाप टेन अपराधियों पर एक नजर डाल लेते हैं सबसे पहले मुख्तार अंसारी की बात करते हैं -म ऊ से 5 बार विधायक रहे 17 वर्षों से जेल में बंद ऐक्सटार्सन,किडनैपिंग और हत्या जैसे लगभग 4दर्जन मामले उनके उपर चल रहे हैं फिर भी उनकी ऐसी दबंग ई रही कि जेल में रहते हुए भी चुनाव जीतते रहे।2005 में उनके उपर दंगा फैलाने का मुकदमा दर्ज हुआ तब उन्होने पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया थाऔर तभी से जेल में बंद हैं जेल में रहते हुए भाजपा नेता कृष्णा नंद राय की 7 सात साथियों के साथ हत्या का आरोप भी लगा था। पहले गाजीपुर जेल में बंद रहेफिर मथुरा जेल भेजा गया वहां से आगरा जेल और फिर बांदा जेल भेजागया उनकी दबंग ई कायह आलम है कि कोई भी जेलर उन्हे अपनी जेल में रखना पसंद नहीं करता है।बीच में पंजाब जेल में भी बंद रहेबडी़ मुश्किल से लम्बी कानूनी लडा़ई लड़नेँके बाद यूपी जेल में वापस लाया जा सका।उनकी और उनके परिवार की करोडो़ रूपये की सम्पत्ति सरकार ने जब्त कर ली और करोडों़ की सम्पत्ति पर बुलडोजर चलवा कर ढहवा दिया। दूसरे टापटेन में उनके बेटेअब्बास अंसारी 2022 मेंसुहेल देव समाजपार्टी से चुनाव जीत कर विधायक बने लेकिन पिता की संगीन आरोपों की छाया उनपर भारी पड़ गयी और मनी लांड्रिंग और पिता की आपराधिक मामलों की आंच उन भी आई और इस समय चित्रकूट जेल में बंद।हैं पहले शूटिंग में शाटगन के राष्ट्रीय खिलाडी़ भी रह चुकें हैं पत्नी निकहत के साथ जेल में अवैध रूप सेरात गुजारने के जुर्म में उनकी पत्नी निकहत भी जेल में बंद हैं उनपर पति को जेल से छुडा़ने।की साजिश रखने का भी आरोप लगा है।अब्बास अंसारी अब कासगंज जेल में बंद।हैं। तीसरे पूर्वांचल का कुख्यात और अपने समय का दुर्दांत अपराधी और पेशेवर हत्यारा सुभाष ठाकुर उर्फ् बाबा है जिसने जेल में सफेद दाढी बढा रखी है और आजीवन कारावास की सजा काट रहा है।पहले वह बनारस की जेल में था बाद में फतेहगढ जेल में सजा काट रहा है उसपर राजनेताओं का भी वरदहस्त है,पूर्वांचल की क ई सीटों पर भी उसकाथोडा़ बहुत प्रभाव है एक समय पूर्वांचल से मुम्ब ई जाकर जरायम की दुनियां में उसने तहलका मचा दिया था।दुस्साहसिक इतना था कि अंडर वर्ड का सिरमौर दाउद इब्राहिम भी उसे अपना गुरू कहता था और जेजे हास्पिटल में अरूण गवली केसाथी की अस्पताल में घुस कर साथी केसाथ गोलियों से छलनी कर दिया था।इस साथी को बृजेश सिंह माना गया था। चौथे अपराधी बबलू श्रीवास्तव हैं जिन्हे किडनैपिंग किंग कहा जाता हैजिससे उसने करोडो़ रूपये बनाये । और नेपाल में एक समय दाउद इब्राहिम का दाहिना साथी और उसके बिजनेश को सम्भालने वाला सां सद मिर्जा असलम बेग की हत्या में भी इसका हाथ बताया जाता है तभी से दाऊद इब्राहिम बरेली जेल में उसकी हत्या कराने के प्रयास में लगा है।उसके पिता विश्वनाथ प्रसाद श्रीवास्तव गाजीपुर के आमघाट कालोनी में रहते थे,जिले जीटीआई में प्रिंसिपल थे। बडे़ भाई विकास श्रीवास्तव फौज में कर्नल थे और उन्ही की तरह वह भी फौज में जाना चाहता थालेकिन कालेज के झगडे़ ने उसकी जिंदगी की दिशा बदल दी।जेल में रहते हुए उसने एल एलबी की शिक्षा पूरी की। पांचवां कुख्यात अपराधी सुंदर भाटी है,जो पूर्वांचल के कुख्यात अपराधी बजरंगी की जेल में हत्या में मुख्य आरोपी हैउसे ग्रेटर नोयेडा के घंघोला क्षेत्र से 2014 में गिरफ्तार किया गया था। और तबसे वह जेल में है और इससमय सोनभद्र जेल में बंद है।नोयेडा की पुलिस फाइल में।उसका गैंग डी-11 केनाम से है। उसके गैंग के नाम से हत्या,रंगदारी आदि जैसे मामले दर्ज हैं । जब नोयेडा का 1992में विकास हो रहा था तभी सुंदर भाटी ने लूट ,हत्या जैसी वारदात करनी शुरू कर दी थी उसकी दुश्मनी नरेश भाटी से हो गयी थी जिसने बाद में राजनीति में कदम रखा और बुलंद शहर का जिला पंचायत अध्यक्ष बन बैठा तभी उसकी हत्या हो ग ई ,जिसमें सुदर भाटी का नाम आया।लेकिन गवाह और साक्ष्य के अभाव में वह छूट गया बाद में योगी सरकार ने उसकी लगभग 25 करोड़ की सम्पत्ति जब्त कर ली है उसके गैंग का एक सदस्य रवी हाल ही मेंपकडा़गया जो बुलेट प्रूफ गाडी़ सेजारहा था । इसके बाद भदोही से बाहुबली विधायक विजय मिश्रा गैंगेस्टर ऐकट में गिरफ्तार हुआ है।इनके उपर पर्वतन निदेशालय ने मनी लांड्रिग के तहत कार्यवाही की है औउनकी प्रयागराज लखन ऊ से भदोही तक 55 करोड़ की सम्पत्ति जब्त की जा चुकी है।उनके खिलाफ रिश्तेदार की जमीन पर कब्जा, एक युवती के खिलाफ रेप के अलावा अन्य तमाम मुकदमें विभिन्न न्यायालयों में चल रहे हैं वे झानपुर से विधायक रहे वर्तमान में आगरा जेल में बंद हैंअब नम्बर आता है खान मुबारक जैसे अपराधी का,जो इस समय हरदोई जेल में बंद है और कुख्यात अंडरवर्ड अपराधी जफर सुपारी का भाई है अम्बेडकर नगर का रहने वाला खान मुबारक तीन साल पहले एक आपरेशन के तहत जब पकडा़ गया तो उसके अवैध हथियारों काजखीरा पकडा़ गया था ऐज7ंसीयों के अनुसार वह यूपी मेंभाई के लिए शूटरों की तलाश कर गिरोह में शामिल कराता था।जो अंडरवर्ड के लिए शूटरों का काम करते थे।इसके बाद नम्बर आता है संजीवा जीवा माहेश्वरी का,जो सही मायने में मुख्तार अंसारी गिरोह का सबसे खतरनाक शूटर है और जिसने भाजपा विधायक कृष्णा नंद राय की हत्या में मुख्य भूमिका निभाई थी। वर्तमान समय में यह मैनपुरी जेल में बंद है।इसके बाद नंम्बर आता है आतिफ रजा उर्फ शरजिल रजा का,दर असल आतिफ रजा मुख्तार अंसारी का छोटा साला है।दर असल 2023 में31 जनवरी को म।ऊ के दक्षिण टोला में मुख्तार अंसारी के साले अनवर और आतिफ रजा के खिलाफ गैंगेस्टर के तहत कार्यवाही में तब आतिफ को जमानत मिल गयी थी लेकिन जब मुख्अतार अंसारी के विधायक बेटे अब्बास अंसारी की मनी लांड्रिंग के तहत गिरफ्तारी हुई तभी लपेटे में आतिफरजा भी गिरफ्तार हो गया।और दसवां कुख्यात अपराधी पश्चिमी यूपी का योगेश भदौडा़ है वह अपने गांव का 15 साल तक प्रधान भी रहा है2013 में अपने भाई विश्वास के साथ गिरफ्तार हुआ है और तभी से वह जेल में बंद हैउसके उपर रंगदारी,हत्या ,फिरौती और पुलिस पर हमले काआरोप है उसका गैंग डी-75 पुलिस रिकार्ड में दर्ज है। सम्पादकीयNews51.in

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments