Sunday, April 14, 2024
होमखेल जगतमारडोना की याद दिलाता मेस्सी का खेल, अर्जेन्टीना बना 36 साल बाद...

मारडोना की याद दिलाता मेस्सी का खेल, अर्जेन्टीना बना 36 साल बाद नया फुटबॉल का नया विश्व चैंपियन

फीफा विश्व कप का चैंपियन बना 36 साल बाद दूसरी बार अर्जेन्टीना। और याद दिला दिया महान फुटबॉल खिलाड़ी मरडोना की। ठीक 1986 की तरह मेसी ने। पूरी टीम का दबाव अपने कंधे पर लिए पूरे मैदान पर मेसी ने अपने को, चाहे अर्जेन्टीना का डिफेंस हो या फिर आक्रमण की अगुवाई करते मेसी, हर जगह पूरे मैदान पर मेसी छाये रहे, वहीं दूसरी तरफ फ्रांस के महान खिलाड़ी एम बापे हर समय अर्जेन्टीना के हाफ में ही आक्रमण की फिराक में रहे और पूरे मैच में यही अंतर रहा ऐम बापे और मेसी के खेले में। लेकिन इस सबके बीच हमें अर्जेन्टीना के गोल कीपर एमिलियानो मार्टिनेज को को नहीं भूल सकते, जिनके शानदार गोलकीपिंग और बचाव के बिना पर अर्जेन्टीना की जीत की कहानी लिखना असम्भव था, चाहे फाइनल के अतिरिक्त समय के दूसरे हाफ के अंतिम समय में शानदार तरीके से गोल बचाया, चाहे पेनाल्टी शूट आउट दो मैच रहे हों ।पूरे विश्व कप के गोल्डेन बूट का खिताब अर्जेन्टीना के गोलकीपर ऐमी मार्टिनेज के अलावा और कोई हो ही नहीं सकता था और गोल्डेन बाल का खिताब लियोन मैसी के अलावा और कोई नहीं हो सकता था, पूरे टूर्नामेंट में प्रचण्ड फार्म और उर्जा से लियोन मैसी रहे, हर गोल के पीछे मेसी का ही बनाया मूव होता रहा, एकदम वैसे ही जैसे कभी डियागो मरडोना करते थे वैसा ही वन मैन शो लियोन मैसी का भी रहा ।महान खिलाड़ी और अच्छे और बड़े खिलाड़ी में यही तो अंतर होता है और अब तक सुपर स्टारडम की उंचाईयों तक पहुंचे लियोन मैसी अब महान खिलाड़ियों की श्रेणी में आ गये।फ्रांस के एम बापे ने टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा 8 गोल दागे और गोल्डेन बूट का खिताब जीता।यंग प्लेयर का खिताब अर्जेन्टीना के खिलाड़ी एंजो फर्नांडीज को मिला। सबसे ज्यादा फुटबॉल में ही धन बरसता है और वह भी चार साल में होने वाले फीफा विश्व कप टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा धन खिलाड़ियों पर बरसता है कतर में होने वाले इस फीफा विश्व कप में कुल 3307 करोड़ रुपये यानि 440 मिलियन डॉलर की धनवर्षा हुई। जिसमें चैंपियन टीम को 42 मिलियन डॉलर यानि 347 करोड़ रुपये रनर अप फ्रांस को 30 मिलियन डॉलर यानि 248 करोड़ रुपये तीसरे स्थान पर रहने वाली टीम को 27 मिलियन डॉलर यानि 223 करोंड़ रूपये और चौथी स्थान पर रहने वाली टीम को 25 मिलियन डॉलर यानि 206 करोड़ रुपये और क्वार्टर फाइनल में पहुंचने वाली टीमों को 17 मिलियन डॉलर यानि 140 करोड़ रुपये, अंतिम 16 में पहुंचने वाली टीमों को 13 मिलियन डॉलर यानि 107 करोड़ रुपये तथा भाग लेने वाली अन्य टीमों को 9 मिलियन डॉलर यानि 74 करोड़ रुपये मिले। –प्रस्तुति -News 51.in

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments