Friday, June 14, 2024
होमखेल जगतभारतीय टीम में वर्चस्व की जंग शुरू, दोनों गुट खुल कर आमने...

भारतीय टीम में वर्चस्व की जंग शुरू, दोनों गुट खुल कर आमने -सामने

न ई दिल्ली – अन्ततः भारतीय टीम के दो दिग्गज खिलाड़ियों के बीच का घमासान खुलकर सामने आ गया है जिसके कारण वेस्ट इंडीज़ दौरे के लिए टीम का चयन दो दिनों से टलता आया और आज टीम का चयन होना है। अंदर ही अंदर खिलाड़ियों के अंदर विरोध काफी समय से पनप रहा था किंतु विराट कोहली और मैनेजर रवि शास्त्री के गठजोड़ के कारण खिलाड़ी चुप थे किंतु विश्व कप में भारत की सेमीफाइनल में न्यूज़ीलैण्ड से हार के बाद विराट कोहली की पकड़ टीम और चयन समिति में ढीली पड़ी है कारण हार के लिए रवि शास्त्री का बल्लेबाजी क्रम में धोनी के अच्छे प्रदर्शन के बाद भी काफी नीचे उतारना और लगातार खराब प्रदर्शन के बाद भी दिनेश कार्तिक, विजय शंकर, केदार जाधव जैसे खिलाडियों को धोनी से उपर उतारना, चौथे नम्बर पर अम्बाटी रायडू जैसे खिलाड़ी को रवि शास्त्री और कोहली की पसंद का खिलाड़ी न होने के कारण उनकी जिद के कारण ही टीम में सलेक्ट न किया जाना, मयंक अग्रवाल को उपलब्ध होने के बावजूद न खिलाया जाना। इन सभी का जिम्मेदार इन दोनों को ही माना जा रहा है। इसके अलावा विराट कोहली का आक्रामक रवैया और रवि शास्त्री का तिकड़मी होना भी है इन्हें भारतीय टीम के खिलाड़ियों से ज्यादा अपने एस मैन खिलाड़ियों की जरूरत थी केदार जाधव, कार्तिक, विजय शंकर जैसे खिलाड़ी कहीं से भी भारत जैसी मजबूत टीम लायक नहीं थे किंतु इन दोनों के चहेते थे। अम्बाटी रायडू और मनीष अग्रवाल और रिषभ पंत को पहली बार ही चुनना था। अनिल कुम्बले को कोहली का चहेता न होने के कारण कोहली ने उन्हें हटवा कर शास्त्री को मैनेजर बनवाया।

किन्तु विश्व कप में लिए गये अनाप-शनाप निर्णयों के कारण भारत की हार के बाद और रोहित शर्मा के शानदार बल्लेबाजी के बाद विराट कोहली से नाराज गुट खुलकर रोहित शर्मा को कप्तान बनाए जाने के साथ ही रवि शास्त्री के स्थान पर नया कोच बनाए जाने की मांग करने लगा है। रोहित शर्मा का शांत रवैया और आईपीएल में उनकी शानदार कप्तानी भी उनके पक्ष में जाती है। एक बात तो तय है कि वेस्ट इंडीज़ दौरे के बाद भारतीय टीम में रवि शास्त्री की विदाई तय है दूसरे विराट कोहली भी अब मनमानी की स्थिति में नहीं रह पाएंगे और न ही टीम चयन में बहुत प्रभाव डालने की स्थिति में रहने वाले हैं। धोनी ने भी अभी तक अपने भविष्य के बारे में कोई पत्ता खोला है जिससे उनके बारे में अटकलें ही लगाई जा सकती है वेस्ट इंडीज़ दौरे से पहले दो महीने की छुट्टी वो बीसीसीआई से मांग चुके हैं। किंतु इतना तय है कि एक या दो आईपीएल में अभी वो खेलेंगे ।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments