Monday, March 4, 2024
होमपूर्वांचल समाचारआज़मगढ़पूरे विश्व में सबसे अनोखा है आजमगढ -अपना शहर मंगरूआ

पूरे विश्व में सबसे अनोखा है आजमगढ -अपना शहर मंगरूआ

अपना शहर मगरुवा —

पूरे विश्व मे अनोखा है आजमगढ़

पिछले कई महीनों से मगरू भाई अपने निजी जिन्दगी में फंसे पड़े थे अब भी फंसे ही पर कहाँ उनका दिल मानता है , दो दिन पहले वो निकल गये शहर भ्रमण पर अलग अलग चौराहों पर लोगो के बहसों को सूना तो उनका भी दिमाग जो बंद पड़ गया था कुछ खुला लगे चिंतन मनन करने कि अगर गौर से देखा जाए तो पूरे भारत में आजमगढ़ बहुत से मामलो में अपना ऐतिहासिक महत्व रखता है जैसे पूरे विश्व में सिनेमाहाल कही भी बन्धे पर नही है पर आजमगढ़ में है , कुछ सम्भ्रांत की बात करे तो वो भी बन्धो को कब्जा करके ही अपने मकान का विस्तार किये है , देश में पहला पी जी आई ऐसा है जहाँ छोटा से छोटा आपरेशन भी नही होता है जहाँ से मरीज जिला अस्पताल में रेफर किये जाते है और तो और देश का पहला मण्डल मुख्यालय ऐसा है जहाँ पर जिले का मेडिकोलीगल दूसरे जिले में होता है जनपद में कोई रेडियोलाजिस्ट नही है , देश का सबसे बड़ा फिक्सर होने का भी गौरव इस जिले को हासिल है देश में तमाम बड़े नेताओं की साथी ( महिला ) होगी पर किसी की औकात नही कि वो तख्ता पलट कर सके यह भी गौरव हमारे जिले को हासिल है | बात अगर अपराध की करे तो हमारे जनपद का एक ही अपराधी देश के सब अपराधियों पर भारी है , माइक के द्वारा फल और सब्जी बेचने का काम भी पूरे देश में बस यही पर होता है यही वह जिला है जहाँ मुहल्ले के नाम के अनुरूप कुछ भी नही कही जैसे कुर्मीटोला में कुर्मी जाति का कोई आदमी नही मिलता खत्रीटोला में कोई खत्री महाशय नही मिलेंगे कालीनगंज में रुई तक नही मिलती है कोट मोहल्ले में अंडरवियर तक उपलब्ध नही है पहाडपुर में मिटटी का ढेला तक नही मिलेगा अराजीबाग में किसी की अराजी नही है सब्जीमंडी पर मुली तक नही मिलती है , पुरानी कोतवाली पर कोई कोतवाली नही है सिविल लाइंस में अधिकाँश अनसिविलाइज्ड लोग रहते है ,खैरातपुर में कोई खैरात बाटने वाला नही है ,दलालघाट पर दलाल खोजने पर नही मिलेंगे पाण्डेय बाजार में पाण्डेय अल्पसख्यक है , हीरापट्टी में हीरा तो क्या पीतल भी नही मिलता है सिर्फ राहुल नगर में राहुल जी के वृत्ति के कुछ लोग निवास करते है | देश के चार दशक पहले देश का सबसे बड़ा बैंक घोटाला भी आजमगढ़ के नाम ही जाता है | सरकारी कागज में हेरा फेरी करके कागज चोर के रूप में विख्यात बाद में साधू यही बनते है , यहाँ अंगद तो मिलेंगे पर वो पाँव जमाने वाले नही है यहाँ पर दैवीय शक्ति के नाम वाले सब आसुरी प्रवत्ति के लोग मिलेंगे पूरे राष्ट में एक यह जनपद ऐसा है जहाँ पर गंधर्व महिला को जनपद का प्रथम नागरिक का स्थान प्राप्त हुआ | इस जनपद की एक यह खूबी है कि जब सांसदी चुनाव
में काशीराम – मायावती हार गयी तब आज़मगढ़ ने रामकृष्ण यादव के रूप में बसपा को पहला सांसद दिया , चन्द्रजीत यादव ने जनवादी पार्टी बनाई थी पूरे प्रदेश में सिर्फ दो सीट प्रात किये थे सदर से दुर्गा प्रसाद और मुबारक पुर से अब्दुल हफीज भारती जब 77 में उत्तर भारत में इंदिरा जी की पार्टी का सफाया हुआ तब यही आजमगढ़ इंदिरा जी को मोहसिना किदवई के रूप में सांसद दिया तभी फिर उनका पुनरूथान शुरू हुआ आश्चर्य तो यह है कि दफ्तरों के बाबू हमारे जनपद में सांसद और राष्ट्रीय पार्टियों के जिलाध्यक्ष हुए | ऐसा हमारा महान जनपद मगरू भाई आर्थिक लोकतंत्र की बात करने वाले वरिष्ठ अधिवक्ता भी यही मिलेंगे
इस जनपद का अभिनन्दन – वन्दन करते है |

RELATED ARTICLES

1 टिप्पणी

  1. 🤣🤣🤣🤣😂😂😂😂😂😂😝😝😝😝😝😝
    जबरदस्त व्यंग्य…

Comments are closed.

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments

%d bloggers like this: