Tuesday, May 21, 2024
होमराजनीतितीसरे चरण की 11 राज्यों की 93 सीटों पर मतदान सम्पन्न, यूपी...

तीसरे चरण की 11 राज्यों की 93 सीटों पर मतदान सम्पन्न, यूपी की 10 सीटों पर भी हुआ मतदान, पहले दो चरण में हुए कम मतदान से सभी दल आशंकित

तीसरे चरण के 11 राज्यों के 93 सीटों पर मतदान सम्पन्न हो गया इसमें गुजरात की सभी 25, गोवा की 2 , आसाम की 4 , बिहार की 5 , छत्तीसगढ की 7 , कर्नाटक की 14, मध्य प्रदेश की 9 , महाराष्ट्र की 11, यूपी की 10, पश्चिम बंगाल की 4 , दमनद्वीप की 2 सीटों पर आज मतदान सम्पन्न हुआ ।यूपी की जिन 10 सीटों पर मतदान हुआ है वे हैं सम्भल, हाथरस, आगरा, फतेहपुर सिकरी, फिरोजाबाद, मैनपुरी, एटा, बदायूं , आंवला और बरेली में मतदान सम्पन्न हुआ जिसमें इंडिया गठबंधन की तरफ से सपा के अधिकांश बडे़ नेताओं और भाजपा के बीच प्रतिष्ठा की लडा़ई है पिछले 2019 के चुनाव में इन 10 सीटों में से 8 पर भाजपा और 2 पर समाजवादी पार्टी ने चुनाव जीता था लेकिन मेरा अपना व्यक्तिगत रूप से मानना है कि पिछले चुनाव और वर्तमान चुनाव में काफी अंतर आ जाता है क ई बातें बदल जाती है पुराने मुद्दों की जगह नये मुद्दे आ जाते हैं इसीलिये यह चुनाव पिछले के मुकाबले काफी अलग हैं। दोनों गठबंधन घटक पिछले दो चरणों में हुई कम मतदान से हलकान हैं ।यूपी के राजवीर सिंह धर्मेद्र कश्यप भाजपा के , गृहमंत्री अमित शाह गुजरात में तो मध्यप्रदेश में दिग्गज कांग्रेसी दिग्विजय सिंह आदि की किस्मत दांव पर लगी है ।तीसरे चरण में कुल 64.58 प्रतिशत वोटिंग रही, सबसे अधिक 81.71 प्रतिशत आसाम में और सबसे कम 57.34 प्रतिशत मतदान यूपी की दस सीटों पर हुआ इससे यूपी में भाजपा को तीनों चरणों में कम मतदान से भाजपा को बडा़ झटका लग सकता है । वैसे पश्चिम बंगाल में भी 76.52 प्रतिशत मतदान हुआ है ।2019 के लोकसभा चुनाव में इन 93 सीटों पर हुए चुनाव में भाजपा ने रिकार्ड 72 सीटों पर विजय हासिल की थी अब तक तीनों चरण में हुए मतदान में कुल 543 में से 282 सीटों पर मतदान सम्पन्न हो चुका है । अगले चार चरण के चुनाव क्रमशः 13 म ई, 20 म ई, 25 म ई और एक जून को होने हैं और 4 जून को मतगणना होनी है । इसबार अबतक हुए तीनों चरणों में कम मतदान प्रतिशत का कारण मतदाताओं में मतदान के प्रति उदासीनता और पड़ रही भीषण गर्मी तथा अबतक फसलों की कटाई को भी माना जा रहा है ।तीसरे चरण की यूपी की जिन 10 सीटों पर चुनाव हुए हैं उनमें अखिलेश यादव के परिवारीजन की प्रतिष्ठा दांव पर लगी है इसी प्रकार कर्नाटक में तीसरे चरण की 14 सीटों पर देवगौडा़ के पुत्र और पोते द्वारा महिला उत्पीड़न की घटना के खुलासे के बाद भाजपा को भारी नुकसान होने की सम्भावना भी बताई जा रही है । सम्पादकीय-News51.in

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments