Friday, June 14, 2024
होमखेल जगतजो जैसा करता है लौट कर उसे भी वही मिलता है -धोनी...

जो जैसा करता है लौट कर उसे भी वही मिलता है -धोनी के साथ जैसा रवी शास्त्री और कोहली ने किया, अब लौट कर उन्हें मिल रहा है

जो जैसा दूसरों के साथ बुरी नियत से करता है समय उसे सूद समेत वापस मिलता है। याद कीजिये, जब रवि शास्त्री टीम को कोच बनाया गया था, रवी शास्त्री को कोच बनाए जाने के लिए तत्कालीन चयनकर्ता कमेटी के अध्यक्ष किरन मोरे बेहद ललायित थे और उनके प्रयास कर रवी शास्त्री को कोच बनवाया था तब तक विराट कोहली भारतीय क्रिकेट टीम का कप्तान बनने के लिए उतावले हुए जा रहे थे। चूंकि तत्कालीन कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी रवी शास्त्री के क्या, किसी की भी कठपुतली बनने वाले इंसान नहीं थे बस यहीं से धोनी और रवी शास्त्री के बीच तनातनी बढ़ी,रवी शास्त्री ने विराट कोहली की महत्वकांक्षा को हवा दी और उनके सपोर्ट में खड़े हो गए। किन्ही कारणों से किरन मोरे बहुत समय से धोनी को कप्तानी से हटाना चाहते हुए भी नहीं हटा पा रहे थे लेकिन कोहली और शास्त्री का साथ पाकर धोनी की कप्तानी क्रमशः टी- 20,टेस्ट मैच और अंत में एक दिवसीय मैचों की कप्तानी से हटा दिया गया वह तो गनीमत थी उस समय उन्हें टीम से निकालने की हिम्मत नहीं जुटा सकी। उस समय धोनी का साथ देने वाले श्री निवासन जो आईपीएल के टी- 20 टीम के चेन्नई के ओनर हैं और उन्हें सुप्रीम कोर्ट के आदेश से बीसीसीआई के अध्यक्ष पद से न केवल हटा दिया गया था बल्कि उनके चुनाव लड़ने पर रोक लगा दी गई थी। इन सब का असर उनके खेल पर भी पड़ा, लेकिन उन्होंने किसी से कुछ नहीं कहा और क्रिकेट के सभी प्रारुप से सन्यास ले लिया। इधर समय अपना खेल, खेल रहा था। सौरभ गांगुली बीसीसीआई के नए अध्यक्ष बनाए गए और भाजपा के दिग्गज अमित शाह के पुत्र जय शाह सचिव बने गांगुली और जय शाह ने टी- 20 विश्व कप में टीम का चयन किया और धोनी को रवी शास्त्री पर अंकुश के लिए टीम का मेंटर नियुक्त कर दिया गया। रवी शास्त्री का कार्यकाल टी- 20 विश्व कप तक ही है बीसीसीआई ने कोहली के एतराज़ के बाद कुछ साल पहले कोच के पद से हटा दिया गया था अब उन्हीं कुम्बले को दुबारा कोच बनाए जाने की बात कह चुकी है इधर कोहली उपकप्तानी से रोहित शर्मा को हटा कर के एल राहुल को उपकप्तान बनाए जाने का प्रस्ताव लेकर चयनकर्ता ओं के पास ग ए थे लेकिन उन्हें खाली हाथ लौटना पड़ा और उन्हें कह दिया गया कि सभी प्रारुप में अब वह कप्तान नहीं रहेंगे विश्व कप के बाद उन्हें कप्तानी छोड़नी पड़ेगी। अब रवी शास्त्री ने समझ लिया कि अब वो दोबारा कोच नहीं बन पाएंगे तो उन्होंने दुबारा कोच बनने की बात से इनकार कर दिया। इसी प्रकार विराट कोहली भी समझ चुके थे कि अब उनका भी खेल खत्म है तो उन्होंने भी विश्व कप के बाद टी- 20 की कप्तानी छोड़ने की बात कही है लेकिन बात यहीं खत्म नहीं होती बल्कि उन्हें एक दिवसीय मैचों की कप्तानी से भी हटाया जाना पक्का है और धोनी का सिक्का एक बार फिर चल पड़ा है।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments