Tuesday, May 21, 2024
होमराजनीतिचुनावी चर्चा -10-सातवां(अंतिम चरण)

चुनावी चर्चा -10-सातवां(अंतिम चरण)

19 म ई को सातवें चरण यानि अंतिम चरण का मतदान होना है। जिसमें हिमाचंल प्रदेश की सभी 4 सीटों, पंजाब की सभी 13 सीट पर,चंडीगढ की एक मात्र सीट समेत कुल सात राज्यों की 59 बची हुई सीटों पर मतदान होना है। बिहार की 8 ,झारखंड की 3 ,मध्य प्रदेश की 8 सीटों पर, पश्चिम बंगाल की 9 और उत्तर प्रदेश की 13 सीटों पर मतदान होना है। तो आज हम हिमांचल की और पंजाब चुनाव की चर्चा करते हैं।
हिमाचंल में कुल 4 सीटें हैं और यहाँ भाजपा और कांग्रेस के बीच ही मुकाबला होता रहा है। पिछली बार 2014 के चुनाव में भाजपा ने चारों सीट पर विजय हासिल की थी। इस बार उसने अपने दो सांसदों का टिकट काट कर नये उम्मीदवार को टिकट दिया है। भाजपा ने कांगडा से किशनकपूर, हमीरपुर से अनुराग ठाकुर, शिमला से सुरेश कश्यप और मंडी से रामस्वरुप शर्मा को टिकट मिला है वहीं कांग्रेस ने कांगडा से पवनकाजल, हमीरपुर से रामलाल ठाकुर, शिमला से धनीराम शांडिल्य और मंडी से आश्रय शर्मा को टिकट दिया गया है। शिमला सीट आरक्षित है। वहाँ भाजपा की सरकार है और वहाँ सेना के जवान और अधिकारी भारी मात्रा में रहते हैं। मंडी में कांग्रेस प्रत्याशी आश्रय शर्मा वहाँ की भाजपा सरकार के उर्जा मंत्री अनिल शर्मा के पुत्र हैं। पिछली बार के मुकाबले इस बार भाजपा के लिए कहीं कडी चुनौती है इस बार कांग्रेस भी अपने लिए अवसर देख रही है।
अब चर्चा पंजाब और चण्डीगढ़ की करते हैं पिछले 2014 के चुनाव में मोदी की लहर में कांग्रेस का जैसा सफाया हुआ था वैसा पंजाब की 13 सीट में नहीं हुआ था। वहां भाजपा ने 4, कांग्रेस ने 5 और आम आदमी पार्टी को चार सीट मिली थी। इस बार के चुनाव में आम आदमी पार्टी गुटबाजी और आपसी कलह के कारण समाप्ति की तरफ है शायद ही कोई सीट जीत पाये। वहीं भाजपा और अकाली गठबंधन में 3 सीट पर भाजपा और 10 सीट पर अकाली दल चुनाव लड रहे हैं। पिछली बार अकाली दल और अन्य की सरकार थी इस बार कांग्रेस की सरकार है जिसकी अगुवाई कैप्टन अमरिन्दर सिंह कर रहे हैं और उनके काम को जनता भी अच्छा मान रही है आम आदमी पार्टी के वोटरों को अपने पक्ष में करने की होड लगी है हालांकि आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के वोट बैंक लगभग एक ही है जिसका फायदा कांग्रेस को मिलेगा तथा मुख्य मंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह की छवि का भी लाभ कांग्रेस को मिलेगा। निश्चित रूप से कांग्रेस वहाँ अच्छा करती दिख रही है।
रही बात चंडीगढ़ की इकलौती सीट की, तो वहाँ पिछली बार 2014 में भाजपा की अभिनेता अनुपम खेर की अभिनेत्री पत्नी किरन खेर ने चुनाव जीता था इस बार भी भाजपा प्रत्याशी किरन खेर ही हैं उधर कांग्रेस प्रत्याशी पूर्व केन्द्रीय मंत्री पवन बंसल हैं। जिन्होंने अपने मंत्री रहते हुए चंडीगढ़ के विकास में काफी काम किया था। इस बार भाजपा की किरण खेर मुश्किल में पड़ी दिख रही हैं फिर भी लडाई दिलचस्प है।
रही बात उत्तर प्रदेश के आखिरी चरण में होने वाली 13 सीटों की। जिन 13 सीटों पर 19 तारीख को मतदान होना है वो हैं – महराज गंज, कुशीनगर, गोरखपुर, देवरिया, बांसगांव, घोसी, सलेमपुर ,बलिया, गाजीपुर, चंदौली, वाराणसी, मिर्ज़ा पुर और राबर्टसगंज हैं।
हम आपको अपने न्यूज पोर्टल “News 51.in”पर 20 तारीख को अपने चैनल का ओपीनियन पोल बताएंगे। कृपया अवश्य देखियेगा और 23 तारीख को बाद दोपहर हमे इस संबंध में अवगत कराने का कष्ट करियेगा ताकि हम अपने प्रयास में कितना सफल रहे, जान सकें।

पिछला लेख
अगला लेख
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments