Tuesday, May 21, 2024
होमराजनीतिएग्जिट पोल के चक्रव्यूह में जनता हुई चकरघिन्नी

एग्जिट पोल के चक्रव्यूह में जनता हुई चकरघिन्नी

इस बार लोकसभा चुनाव से पहले भारत में हुए पांच राज्यों में सम्पन्न हुए विधान।सभा चुनाव के रिजल्ट 3 दिसम्बर को आने वाले हैं उससे पहले 30 नवम्बर को विभिन्न चैनलो एग्जिट पोलों की बाढ आई हुई हैजिन राज्यों के विधान सभा हुए हैं वे राज्य मध्यप्रदेश, राज स्थान, छत्तीसगढ, तेलंगाना और मिजोरम हैं जिन चैनलों ने एग्जिट पोल किये हैंवे हैंएबीपी न्यूज सी वोटर का एग्जिट पोल ,टाईम्स नाऊ,टी वी9, रिपब्लिक, इंडिया टूडे और न्यूज 24 है सभी ने अपने-अपने एग्जिट पोल में अलग- अलग दावे किए हैं सबसे पहले छत्तीसगढ के अलग- अलग चैनलों के एग्जिट पोल की बात करते हैं एबीपी सी वोटर के अनुसार बीजेपी 42, कांग्रेस 47 और अन्य को 2सीट, टाईम्स नाऊ 52 भाजपा, कांग्रेस 36 अन्य 3 सीट , न्यूज 9 ने भाजपा को 40 , कांग्रेस 45 व अन्य को 3 सीट दिखाया है। रिपब्लिक ने भाजपा 38, कांग्रेस को 48 और अन्य को 1 सीट दिखाया है इंडिया टू डे ने भाजपा को 35, कांग्रेस को 51 और अन्य को 4 सीट औरन्यूज 24 ने भाजपा को 33, कांग्रेस 57 और अन्य को 0 सीट दिखाया है छत्तिसगढ में कुल 90 विधान सभा की सीट है और 46 सीट बहुमत के।लिये चाहिये। यह मैने छत्तिसगढ का एकमात्र उदाहरण दिया है कि इतने सारे चैनल्स ने अलग- अलग एग्जिट पोल्स बताये हैं और तो और जहां लगभग यह शीशे की तरह साफ दिख रहा है कि जहां किसी पार्टी की सरकार भारी बहुमत से जीत रही है वहां भी क ई एग्जिट पोल उस पार्टी को हारते हुए या कांटे की टक्कर में दिखा रहे हैं जिससे भारी भ्रम की स्थिति बन जाती है अर्थात मतगणना के दिन तक यानि 3 दिसम्बर तक भ्रम की स्थिति बनी रहती है। लेकिन दो राज्य छत्तीसगढ और तेलंगाना की स्थिति करीब -करीब ऐग्जिट पोल्स से स्पष्ट है और मिजोरम में किसी भी दल को स्पष्ट बहुमत मिलता नहीं दिख रहा है। ज्यादा असमंजस की स्थिति मध्यप्रदेश और राजस्थान में दिख रही है अलग- अलग चैनल्स अलग- अलग भाजपा या कांग्रेस को जीतते हुए दिखा रहे हैं जिससे लोगों में भ्रम बढा है फिलहाल 3 दिसम्बर को दोपहर तक स्थिति स्पष्ट हो जायेगी।एग्जिट पोल्स मायाजाल के अलावा कुछ नहीं है यह।बात जनता को समझनी है अपने लाभ के लिए यह एग्जिट पोल अपने एक दल विशेष को जीताने के लिए बनाए जाते हैं सम्पादकीय- News51.in

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments