Friday, June 14, 2024
होमखेल जगतआईपीएल2023- लीग मैचों का आधा सफर पूरा होगया, आधा बाकी, क्या स्थिति...

आईपीएल2023- लीग मैचों का आधा सफर पूरा होगया, आधा बाकी, क्या स्थिति है टीमों की,देखते हैं ?

आईपी एल 2023 के लीग में 14-14 मैच एक टीम को खेलने हैं,और सभी टीमों ने 7-7 मैच खेल लिए हैं दस टीमें भाग ले रही हैं अब तक जिन चार टीमों ने शीर्ष पर हैं वे हैं-चेन्न ई सुपर किंग 7 मैचों में 5 जीत ,दो हार के साथ +0.662 नेट रन रेट के साथ प्रथम स्थान, गुजरात टाईटंस सात मैचों में दो हार 5 जीत के साथ +0.580 नेट रन रेट के साथ दूसरे स्थान पर,राजस्थान रायल्स सात में तीन हार चार जीत के साथ 6 अंक लेकर +०.844 के नेट रन रेट के साथ तीसरे और लखन ऊ सुपर जाइंट्स 7 मैचों में तीन हार और चार जीत के साथ 8 अंक लेकर +0.547 के नेट रन रेट के साथ चौथे स्थान पर हैं ।सबसे बुरी स्थिति दिल्ली कैपस्टल सात में 5 हार 2 जीत के साथ चार अंक लेकर अंतिम दसवें स्थान पर , सनराईजर्स हैदराबाद 7 मैचों में 5 हार दो जीत के साथ 4 अंक लेकर 9 वें स्थान पर ,कोलकाता नाईट राईडर्स 7 मैचों में 5 हार और दो जीत के साथ 4 अंक लेकर 8वें स्थान पर और पांच बार की चैंम्पियन मुम्ब ई इंडियंस 7 मैचों में 4 हार और तीन जीत किंगके साथ 6 अंक लेकर 7 वें स्थान पर है।अब पंजाब किंग्स और रायल चैलेंजर बैंगलेरू 7 मैचों में3 हार और चार जीत के साथ क्रमशः 6ठें और पांचवें स्थान पर हैं बाकी बचे सात मैचों में चेन्न ई, गुजरात ,राजस्थान और लखन ऊ को कम से कम तीन मैच और अंतिम चार में पहुंचने के लिए जीतने आवश्यक होंगे।दिल्ली कैपिटल और हैदराबाद के बल्लेबाजों का न चल पाना और बेंच स्ट्रेंथ(बेंच पर बैठे अन्य। खिलाडि़यों) का मजबूत न होना दोनों टीमों की कमजोर कडी़ है ।रही बात 5 बार की चैंम्पियन मुम्ब ई की बल्लेबाजी में यूं तो बडे़ -बडे़ नाम हैं लेकिन एक दो चल रहे हैं लेकिन गेंदबाजों ने हर बार।मुम्ब ई को रूलाया है और मुम्ब ई की हार का कारण गेंदबाजी ही बन रही है । रही पंजाब किंग्स की बात तो उनकी बल्लेबाज और गेंदबाज दोनों औसत प्रदर्शन कर रहे हैं और वो भी अंतिम चार में पहुंचने की बहुत आशा नहीं जगा पा रहे हैं ,कोलकोता नाईट राईडर्स और रायल्स चैलेंजर्स बैगलेरू दोनों बहुत अच्छी टीमें हैं लेकिन कोलकाता अपने स्पिनर्स और आंद्रे रसल पर बहुत अधिक निर्भरता से बैक पुट पर है बल्लेबाजी में जेसन राय के आने से उन्हे थोडी़ राहत मिली है और रिंकू सिंह के निरंत्तर अच्छा खेलने से भी राहत है और उन्हे बल्लेबाजी में काफी उपर आना होगा।लेकिन सात मैचों में पांच हार के कारण उन्हे भी अंतिम चार में पहुंचने के लिए अब से सात मैच में 6 जीतने होंगे जो असम्भव तो नहीं, लेकिन उसके लिए असाधारण खेल दिखाना होगा, आरसीबी शुरू से ही हर आईपीएल में सम्भावित विजेता रहती हैऔर बहुत मजबूत टीमों में शुमार होती है , लेकिन आज तक एकबार भी खिताब नहीं जीत पाई है। इसबार भी विराट कोहली और कप्तान डुप्लेसिस और मैक्सवेल पर टीम पूरी तरह आश्रित है ।दिनेश कार्तिक भी अब फिनिसर की भूमिका नहीं निभा पा रहे हैं यही बात गेंदबाजी में है केवल मोहम्मद सिराज बहुत अच्छा कर रहे हैं ।लखन ऊ और गुजरात की टीमें दोनों बहुत अच्छी और संतुलित हैगुजरात तो पिछली बार की विजेता भी रह चुकी है दोनों टीमें दिन विशेष पर किसी को भी हराने की क्षमता रखती हैं वहीं बात चेन्न ई सुपर किंग की करें तो उनके बल्लेबाज सरपट दौड़ रहे हैं तकरीबन चार बार दो सौ से अधिक रन।उसके गवाह हैं और आजिंक्य रहाणे के आने से चेन्न ई की बल्लेबाजी बहुत मजबूत हुई हैसभी टीमों में यह सबसे मजबूत बल्लेबाजी वाली टीम हैऔर पथिराना ,आकाश सिंह और तुषार देशपांडे ने तेज गेंदबाजी को भी धार दिया है ,जडेजा,मोईन अली और महेश तीक्ष्णा की विविधता लिए स्पिन विभाग ने न ई मजबूती प्रदान की है । मेरे विचार में चेन्न ई, गुजरात और लखन ऊ की टीम ने जैसा खेल दिखाया है, अंतिम चार में ये तीन टीमों का पहुंचना लगभग निश्चित है और सम्भवतः चौथी टीम रायल चैलेंजर बैंगलेरू ही होनी चाहिए। सम्पादकीय-News51.in

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments